HomePERSONAL FINANCEPersonal Finance क्या होता है? इसके फायदे क्या है, क्यों हर एक...

Personal Finance क्या होता है? इसके फायदे क्या है, क्यों हर एक व्यक्ति को Personal Finance पर ध्यान देना चाहिए।

दोस्तों आज की तारीख में हर एक व्यक्ति अपने जीवन में नौकरी या बिजनेस के द्वारा पैसे कमाता है लेकिन पैसे कमाना और पैसे को बचाना अगर किसी व्यक्ति को नहीं आता है तो जीवन में उसे आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ेगा इसलिए भविष्य को सुरक्षित करने के लिए पैसे बचाना अति आवश्यक है।

अब आपके मन मे सवाल आएगा कि आप पैसे कैसे बचाएंगे तो इसके लिए आपको पर्सनल फाइनेंस के मूलभूत सिद्धांतों को पालन करना होगा तभी जाकर आप अपने जीवन में पैसे को बचा पाएंगे। पर्सनल फाइनेंस का अगर आप अच्छी तरह से अध्ययन करेंगे तो आपको वहां पर पैसे बचाने के तरीकों के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी मिलेगी।

अब आपके मन मे सवाल आएगा कि Personal Finance क्या होता है और इसका इस्तेमाल आप कैसे करेंगे पर्सनल फाइनेंस में क्या-क्या होता है अगर आप इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़े आप पर्सनल फाइनेंस से सम्बंधित सभी चीजें जान जायेंगे तो आइये जानते है। 

पर्सनल फाइनेंस क्या है? (Personal Finance Kya Hai)

देखिए ये Personal Finance शब्द ही अपने आप को परिभाषित करता है। ‘Personal’ मतलब खुद, व्यक्तिगत और ‘Finance’ मतलब वित् या रूपये, पैसे से सम्बंधित चीजे मतलब की खुद के धन, सम्पति को कैसे संभाला जाये, धन पर नियंत्रण कैसे रखा जाय या आपके पास जो अभी संपत्ति है।

personal finance kya hai
personal finance kya hai

और उस सम्पति से ज्यादा से ज्यादा सम्पति कैसे बनाया जाये ताकि आप Financially तौर पर मजबूत हो अगर आप इस बात को समझ जाते हैं तो यकीन मानिए जीवन में आपको कभी भी पैसे की कमी नहीं होगी और पैसे को आप आसानी से भविष्य हेतु सेविंग कर पाएंगे।

ताकि भविष्य में अगर आपको कोई महत्वपूर्ण कार्य करना हो तो इसके लिए आपको कहीं से पैसे उधार के तौर पर ना लेने पड़े। आसान शब्दों में पर्सनल फाइनेंस को परिभाषित करें तो, पैसे को अच्छे और समझदारी से मैनेज करना ही पर्सनल फाइनेंस कहलाता है। 

दोस्तों पर्सनल फाइनेंस का मतलब होता है कि पैसे आप कैसे बचा सकते हैं और उसका इस्तेमाल आप कैसे करेंगे कि आपको अधिक से अधिक मुनाफा प्राप्त हो उससे संबंधित या एक विषय होता है. पर्सनल फाइनेंस के माध्यम से आप तीन प्रकार की चीजें सीख सकते हैं।

पहला पैसे कैसे कमाए दूसरा पैसे का खर्च कैसे करें और तीसरा बचत कैसे करें अगर आप पर्सनल फाइनेंस के तीनों चीजों को सीख जाते हैं तो आपको जीवन में कभी भी आर्थिक परेशानी या तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा. अगर आप एक युवा हैं तो आपको पर्सनल फाइनेंस के बारे में जानकारी लेना अति आवश्यक है।

क्योंकि युवाओं के अंदर पैसे कमाने की सबसे ज्यादा चाहत और जुनून होती है लेकिन अगर आप पर्सनल फाइनेंस को सीख, समझ जाते हैं तो आप अपने जुनून और मेहनत के द्वारा अपने जीवन में अधिक से अधिक पैसे कमा पाएंगे इससे आपका भविष्य उज्जवल और शानदार होगा। 

Personal Finance में कौन-कौन सी चीजें शामिल है?

फाइनेंस के अंतर्गत निम्नलिखित प्रकार की चीजें सम्मिलित हैं उन सब का विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार देंगे जो इस प्रकार है। 

  • Income, salary, budget, monthly expenses,
  • bills payment, shopping, bank accounts, credit cards, home loan, personal loan,
  • stock market portfolio, investment, life insurance and health insurance और दुसरे इन्सयोरेन्स , mortgages loans, और एनी सभी तरह के loans/कर्ज , हमारी सम्पति(asset),
  • liabilities यानी कर्जे
  • हमारी future planning जैसे – retirement, child education, holiday etc

Personal Finance category के अंतर्गत कौन-कौन सी चीजें आती हैं। 

Personal Finance category के अंतर्गत निम्नलिखित प्रकार की चीजें आती हैं जो की इस प्रकार है। 

बजट (Budget)

दोस्तों अगर आप कोई भी काम अपने जीवन में करना चाहते हैं तो उसका एक बजट बनाना होगा तभी जाकर आप उस काम को कर पाएंगे बजट के अंतर्गत हम इस बात को निर्धारित करते हैं क्या मैं इस काम को करने में कितने पैसे खर्च करने हैं।

और एक काम को कितने दिनों में पूरा करना है उसके अनुसार हम अपना वहां पर बजट में आते हैं इसके अलावा बजट में खर्चे और इनकम को भी सम्मिलित किया जाता है। इस बात को आप ऐसे समझ सकते हैं कि जब सरकार संसद में बजट पेश करती है तो उस बजट में वह अपने सभी प्रकार के कार्यों, खर्चे के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देती है कि उसे कौन-कौन से कार्य करने हैं।

और उसके लिए कितना पैसा यहां पर विराजित करना है अब तो आपको समझ में आ गया होगा कि बजट क्या होता है इसका पर्सनल फाइनेंस में क्या महत्व है। 

इंश्योरेंस (Insurance)

आज की तारीख में हर एक व्यक्ति को अपने जीवन में इंश्योरेंस करवाना चाहिए क्योंकि जीवन में कब क्या घटना घटित हो जाएगी इसे बोल पाना किसी भी व्यक्ति के लिए संभव नहीं है आज आपको मार्केट में अनेकों प्रकार के इन्सुरेंस कंपनियां मिल जाएंगे जिनमे आप Life Insurance, Health Insurance इसके अलावा कई और भी इंसुरेंस है इसलिए हम कह सकते हैं कि पर्सनल फाइनेंस को अच्छा रखने के लिए इन्सुरेंस का होना अति आवश्यक है। 

टैक्स (Tax)

दोस्तों अगर आप किसी प्रकार का आय प्राप्त कर रहे हैं तो आपको सरकार को टैक्स देना आवश्यक होगा आपको सरकार को टैक्स देने के लिए पैसे को अच्छी तरह से मैनेज करके रखना होगा तभी जाकर आप सरकार को टैक्स दे पाएंगे इसलिए पर्सनल फाइनेंस अगर आप सीख जाते हैं तो आप tax को मैनेज करना भी जान जाएंगे। 

बचत और निवेश (Saving and Investment)

दोस्तों आप अपने जीवन में जितना भी पैसा कमाते हो उनमें से कुछ पैसा आपको जरूर सेविंग करनी चाहिए और उन बचत राशि को आप किसी प्रकार के Mutual Fund, Share Market में निवेश कर दें ताकि भविष्य में अगर आपको पैसे की जरूरत पड़े तो आप आसानी से यहां से पैसे ले सकते हैं।

और अपनी जरूरत को पूरा कर सकते हैं इसलिए पर्सनल फाइनेंस में बचत और निवेश का एक विशेष महत्व है और अगर आप बचत और निवेश नहीं करते हैं तो आपको अपने जीवन में आर्थिक तंगी और परेशानी का सामना करना पड़ सकता है इसलिए आप हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि बचत और निवेश हमें जीवन में अपने क्षमता के अनुरूप  कुछ ना कुछ करना ही चाहिए। 

फाइनेंसियल प्लानिंग (Financial Planning)

दोस्तों हर व्यक्ति को अपने जीवन में फाइनेंसियल प्लानिंग अवश्य करना चाहिए ताकि जब व्यक्ति बूढ़ा हो जाए तो उसे बुढ़ापा में दूसरे व्यक्ति के ऊपर निर्भर ना रहना पड़े इसके अलावा वह अपने परिवार की जिम्मेदारियों का निर्वहन भी अच्छी तरह से कर सके इसके लिए भी उसे फाइनेंशियल प्लैनिंग की एक योजना बनानी होगी जिसमें में रिटायरमेंट, बच्चों की एजुकेशन, शादी, प्रोपर्टी जैसे long term खर्चों के लिए प्लान करना होता है। 

Personal Finance के लिए रणनीति कैसे बनाएं?

बजट का टारगेट सेट करें

अगर आप कहीं पर नौकरी कर रहे हैं या बिजनेस कर रहे हैं तो आप अपने घर का एक बजट हर एक महीने में निर्धारित करते हैं और उस बजट के मुताबिक ही आप पैसे खर्च करते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा होता है कि आप अपने द्वारा कमाए गए पैसे का कुछ हिस्सा बचा कर अपने भविष्य के लिए रखते हैं क्योंकि अगर आप अपने घर का बजट निर्धारित नहीं करेंगे तो आप के खर्चे बढ़ेंगे।

और आप जितने भी पैसे कमाएंगे उन पैसों का बचा पाना आपके लिए संभव नहीं है इसलिए अगर आप अपने जीवन में पर्सनल फाइनेंस के लिए रणनीति बनाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको बजट का टारगेट भी सेट करना होगा. बजट के द्वारा व्यक्ति आसानी से मालूम चल पाता है कि उसे कितना पैसा किस क्षेत्र में खर्च करना है और कितना बचाना है भविष्य के लिए। 

एमरजेंसी फंड तैयार करें

आपके जीवन में कब कौन सा आपातकालीन स्थिति आ जाएगी इसे बोल पाना किसी भी व्यक्ति के लिए संभव नहीं है इसलिए व्यक्ति को हमेशा अपने घर में एक इमरजेंसी फंड जरूर तैयार रखना चाहिए ताकि अगर आपातकालीन स्थिति में पैसे की जरूरत पड़े तो आप इमरजेंसी फंड से पैसे निकाल कर उस जरूरत को पूरा कर सके। 

कर्ज को सीमित रखें

दोस्तों आप लोगों ने देखा होगा कि अक्सर कई लोग दिखावा करने के चक्कर में पैसे उधार लेते रहते है। लेकिन जब वह पैसे उधार के तौर पर लेते हैं तो उसे चुका पाने में असमर्थ होते हैं इसका प्रमुख कारण उनकी जो सैलरी है वह काफी सीमित है।

स्मार्ट फाइनैंशल प्लानिंग वही कहलाती है जब आप अपने आमदनी के अनुसार खर्च करना सीख जाए अगर कोई भी व्यक्ति फाइनेंशियल प्लानिंग के इस उपाय को अपने जीवन में इस्तेमाल करता है। तो यकीन मानिए कि उसका जीवन हमेशा खुशहाल और आर्थिक रूप से सशक्त बना रहेगा क्योंकि अगर आपके जीवन में कर्ज बहुत कम होगा तब आप अपने जीवन में बड़े-बड़े योजनाओं को आसानी से पूरा कर पाएंगे।

और एक सफल व्यक्ति भी बन पाएंगे. विशेष तौर पर युवाओं को पेंशन प्लानिंग के इस रणनीति को अपने जीवन में जरूर समाहित करना चाहिए . ताकि पैसे कैसे बचाते हैं उस बात को जान पाएंगे। 

क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल सही तरीके से करें

दोस्तों क्रेडिट कार्ड ने हमारे जीवन को काफी सुगम और आसान कर दिया है लेकिन क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने के फायदे हैं तो उसके नुकसान लिए भी हैं अगर आप इसका इस्तेमाल सही तरीके से नहीं करते हैं तो आपके लिए काफी घातक हो सकता है।

अगर आपने क्रेडिट कार्ड लिया है तो उसका इस्तेमाल आपको ऐसे करना है कि आपके लिए ये बाद में नुकसानदायक साबित ना हो। जब कोई जरूरी चीज आपको खरीदनी हो तभी आप अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करें इसके अलावा क्रेडिट कार्ड का जो भी पैसा बकाया है उसे सही वक्त पर चुका दे इससे आप भारी ब्याज से बच सकते हैं. Personal finance मे credit card का एक विशेष महत्व है। 

परिवार के लिए करें प्लान

Personal finance के द्वारा आप सिर्फ अपना भविष्य सुरक्षित नहीं कर सकते हैं बल्कि अपने परिवार के लिए प्लानिंग भी कर सकते हैं जिससे आपके परिवार का भविष्य सुरक्षित हो सके इसके लिए आप फैमिली इंश्योरेंस प्लान या ऐसे कई आपको बैंकिंग योजना मिल जाएंगे जिसमे आप पैसे निवेश कर सकते हैं ताकि अगर आपको कुछ हो जाता है तो आपके परिवार को यहां से अच्छी रकम मिल सके इससे उन्हें अपना जीवन व्यतीत करने में पैसे की कमी ना हो। 

रिटायरमेंट का प्लान करें

आज की तारीख में अगर आप नौकरी कर रहे हैं तो यकीन मानिए एक ना एक दिन आप को रिटायरमेंट लेना ही पड़ेगा लेकिन रिटायरमेंट के बाद आपको पैसे की तंगी ना हो इसके लिए आपको अपनी रिटायरमेंट की प्लानिंग आज से शुरू करनी होगी क्योंकि कई लोगों के मन में आता है।

कि अभी तो रिटायरमेंट में समय है बाद में कर लेंगे इस गलती के कारण उन्हें बुढ़ापे में काफी परेशानी और दिक्कत का सामना करना पड़ता है इसलिए आप जितना भी पैसा कमाते हो उसका एक भाग आप अलग से रिटायरमेंट के लिए जमा करें ताकि निश्चित समय में आपको वहां से अच्छा खासा पैसा रिटर्न के तौर पर मिले और आपका बुढ़ापा अच्छी तरह से व्यतीत हो सके।

FAQ’s –

Q. पर्सनल फाइनेंस क्या है?

Ans – पर्सनल फाइनेंस एक शब्द है जो अपने आप को परिभाषित करता है “पर्सनल” मतलब खुद का और “फाइनेंस” मतलब वित्, पैसा। इसका सीधा सा मतलब ये है की ये आपके पैसे के मैनेजमेंट के साथ-साथ सेविंग और इन्वेस्टमेंट को भी शामिल करता है। इसमें बजट, बैंकिंग, इन्सुरेंस, निवेश, टैक्स, और रिटायरमेंट और संपत्ति की प्लानिंग शामिल होती है।

Q. व्यक्तिगत वित्त के पांच क्षेत्र कौन से हैं?

Ans – पर्सनल फाइनेंस के मुख्य क्षेत्र आय, व्यय, बचत, निवेश और सुरक्षा हैं।

Q. पर्सनल फाइनेंस प्लानिंग क्यों महत्वपूर्ण है?

Ans – पर्सनल फाइनेंस की प्लानिंग इसलिए जरुरी है ताकि आपके वर्तमान में या भविष्य में जो भी खर्चे है या होने वाले है उसकी एक वित्तीय प्लानिंग बन जाये। ये इसलिए भी महत्वपूर्ण है की आप कही जरुरत से ज्यादा खर्चे या बचत तो नहीं कर रहे है। ये आपके भविष्य के वित्तीय जोखिमों और भविष्य के जीवन की घटनाओं को मद्देनजर रखते हुए प्लानिंग करता है।

निष्कर्ष –

तो आज के इस आर्टिकल में आपने जाना की Personal Finance क्या होता है? इसके फायदे क्या है. मुझे ऐसा पर्सनली लगता है आज की तारीख में हर एक व्यक्ति को Personal Finance पर ध्यान देना बहुत ही जरूरी है क्यूंकि हम सभी ने कोरोना के समय ये देख चुके है।

की कैसे लोगो की नौकरियां गई थी, लोग बेरोजगार हो गए थे घर को चला पाना भी मुश्किल हो रहा था ऐसे में अगर आप अपनी पर्सनल फाइनेंस को ठीक रखेंगे तो कोरोना जैसे विकट परिस्तिथि में भी आप अपने परिवार का अच्छे से ख्याल रख पाएंगे। 

आशा करता हूँ आपको ये आर्टिकल अच्छा और ज्ञानवर्धक लगा होगा, इसे आप अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ-साथ सोशल मीडिया साइट्स जैसे Facebook, Twitter पर भी जरूर शेयर करें किसी भी प्रकार का सवाल, सुझाव आप कमेंट में पूछ सकते है, धन्यवाद!

Read More –

Businessguidehindi
Businessguidehindihttps://businessguidehindi.com
नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ये ब्लॉग आपको बिज़नेस आइडियाज, मेक मनी, इन्वेस्टमेंट, फाइनेंस और अन्य प्रकार की जानकारिया देता है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Post