HomeSHARE MARKETNSE क्या है? NSE और BSE में अंतर क्या है?

NSE क्या है? NSE और BSE में अंतर क्या है?

अगर आप शेयर बाजार में पैसे Invest  करते हैं तो आप लोगों ने NSE बारे में जरूर सुना होगा। NSE, Share Market का सबसे महत्वपूर्ण भाग है और इसके बिना शेयर बाजार को संचालित करना लगभग मुश्किल है। ऐसे में अगर आप ही शेयर बाजार में पैसे निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं।

तो आपको इसके बारे में जानकारी होना आवश्यक है। अगर आप इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं है आप इस आर्टिकल NSE क्या है? NSE और BSE में अंतर क्या है? (National Stock Exchange in Hindi) को अंत तक पढ़कर इसके बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर सकते है। 

NSE Information in Hindi 

प्रकार स्टॉक एक्सचेंज
स्थापना वर्ष  वर्ष 1992 में 
स्थान मुंबई, महाराष्ट्रा, इंडिया 
NSE Full Form  National Stock Exchange Of India Limited
Indices NIFTY 50, NIFTY Next 50, NIFTY 500
सूचकांक (Benchmark Index) Nifty  
वर्तमान चेयरमैन  गिरीशचन्द्र चतुर्वेदी  
एमडी, सीईओ  आशीष कुमार चौहान
मार्किट कैपिटलाइजेशन US$3.40 Trillion (2022)
मुद्रा  भारतीय रुपया (INR)
ऑफिसियल वेबसाइट  www.nseindia.com

NSE क्या है? (National Stock Exchange in Hindi)

national stock exchange kya hai hindi

NSE, भारत का एक प्रमुख बड़ा स्टॉक एक्सचेंजों में से एक है। ये ट्रेड किये गए कॉन्ट्रैक्ट्स की संख्या के अनुसार दुनिया का सबसे बड़ा Derivatives Exchange है। ट्रेडों की संख्या के हिसाब से Cash Equities में ये दुनिया का चौथा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। जिसमें Share Bond, Security Document, Debentures सूचीबद्ध किए जाते हैं.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज को इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग स्टॉक मार्केट भी कहा जाता है क्यूंकि ये देश का पहला आधुनिक और पूरी तरह से आटोमेटिक स्क्रीन-बेस्ड इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग सिस्टम प्रदान करने वाला पहला एक्सचेंज था। वर्तमान समय में इसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया में है.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के अंतर्गत 1600 कंपनियां लिस्टेड है इसके अलावा पूरे विश्व इसकी ग्लोबल रैंकिंग 9 है। NSE का सूचक Nifty Index होता है इसके अंतर्गत भी भारत की 50 टॉप कंपनियां रजिस्टर्ड है इसके के आधार पर ही NSE का प्रदर्शन निर्धारित होता है। अगर इसका प्रदर्शन खराब होगा तो NSE मार्केट में तेजी के साथ गिरावट आएगी 

और अगर इसका प्रदर्शन अच्छा होता है तो मार्केट में उछाल भी आपको देखने को मिलेगा इसकी स्थापना 1992 में हुई थी. आज की तारीख में इसका टोटल मार्केट वैल्यू US$3.4 trillion (August 22) है वर्तमान समय में इसके चेयरमैन गिरीशचंद्र चतुर्वेदी है और एमडी और सीईओ आशीष कुमार चौहान है। 

NSE Full Form in Hindi

NSE का पूरा नाम “National Stock exchange of India Limited” होता है। जिसे हिंदी में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड कहते है। और साथ ही BSE का फुल फॉर्म Bombay Stock Exchange है। 

NSE का इतिहास क्या है?

जैसा कि आप लोग जानते हैं कि पहले Share Market में मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ही हुआ करता था और इसके माध्यम से शेयर बाजार में पैसे Invest होते थे, लेकिन वर्ष 1992 में हर्षद मेहता स्कैम के बाद से भारतीय शेयर बाजार से निवेशकों का विश्वास उठने लगा। 

जिसके बाद सरकार ने निवेशकों के हित की रक्षा के लिए SEBI (Securities and Exchange Board Of India) की स्थापना किया गया था इसके बारे में आप लोग जरुर जानते होंगे की ये शेयर बाजार से सम्बंधित नियम और कानून बनाता है। जिसका पालन कंपनी और निवेशक को करना पड़ता है।

लेकिन जब इसकी स्थापना की गई तब मुंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के निवेशकों को बिल्कुल पसंद नहीं आया और उन्होंने इसके नियम और कानून को मानने से इनकार किया। इसके बाद सरकार ने मुंबई स्टॉक एक्सचेंज के तर्ज पर NSE की स्थापना की जो बिल्कुल ऑनलाइन इलेक्ट्रॉनिक तरीके से संचालित होगा जिसमें कागजी कार्रवाई की जरूरत नहीं होगी। 

इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि यहां पर कोई भी ऑनलाइन धोखाधड़ी जैसी घटना घटित नहीं हो पाएगी। जिसके बाद दोबारा से भारतीय शेयर बाजार पर निवेशकों का विश्वास आ गया और लोग अधिक से अधिक शेयर बाजार में पैसे निवेश करने पड़े भारतीय पूंजी में NSE का सबसे महत्वपूर्ण योगदान है। 

NSE का उद्देश्य और कार्य

NSE की स्थापना निम्न उद्देश्यों को ध्यान में रखकर हुई थी.

● भारत में शेयर ट्रेडिंग को प्रोत्साहित करना ताकि अधिक से अधिक लोग शेयर बाजार में पैसे निवेश कर सके। 
● भारतीय शेयर बाजार को पारदर्शी और जवाबदेह बनाना। 
● शेयर बाजार को आधुनिक और विकसित बनाना है। 
● शेयर बाजार में होने वाले धोखाधड़ी घटनाओं पर अंकुश लगाना और निवेशकों के हित की रक्षा करना। 
● निवेशक को इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाना। 
● भारतीय शेयर बाजार को अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार स्थापित और उसका आधुनिकरण करना। 

निफ्टी क्या है?

आप लोगों ने अक्सर न्यूज़ पेपर और टेलीविजन न्यूज़ के माध्यम से ये सुनते होंगे की आज शेयर बाजार का Niffty इतने अंक नीचे गिर गया है या निफ़्टी में बढ़ोतरी देखने को मिली। ऐसे में आपके मन में सवाल आता होगा कि आखिर में निफ्टी क्या होता है तो मैं आपको बता दूं कि Nifty, National Stock Exchange का Index होता है। 

जिसके माध्यम से NSE के प्रदर्शन का मापन किया जाता है जिसके आधार पर इस बात की जानकारी मिलती है कि आने वाले दिनों मे नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का परफॉर्मेंस कैसा रहेगा अच्छा या खराब। Nifty को 22 April 1996 ईस्वी को लांच किया गया था। इसके अंतर्गत top 50 कंपनियां Listed की गई हैं। 

NSE और BSE में अंतर क्या है? (Difference Between NSE and BSE in Hindi)

NSE और BSE मैं निम्नलिखित प्रकार के अंतर है जिसका विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार देंगे जो इस प्रकार है। 

● NSE का पूरा नाम National Stock Exchange है इसके विपरीत. BSE का पूरा नाम Bombay Stock Exchange है। 
● NSE की स्थापना 1992 में हुआ था. और BSE की स्थापना 1875 में हुई थी। 
● NSE भारत का दूसरा स्टॉक एक्सचेंज है. जबकि BSE इंडिया का सबसे पुराना और एशिया का पहला स्टॉक एक्सचेंज है। 
● NSE का इंडेक्स Nifty है. जिसमें शीर्ष 50 कंपनियों को Listed किया गया है.BSE का इंडेक्स Sensex है. जिसमें top 30 कंपनियों को लिस्टेड किया गया है। 
● इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग सिस्टम को सबसे पहले NSE ने 1992 में शुरू किया था. BSE के द्वारा 1995 में इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग सिस्टम की शुरुवात की.
● NSE को 1993 में स्टॉक एक्सचेंज के रूप में पहचान मिली. BSE को 1957 में स्टॉक एक्सचेंज के रूप में पहचान मिली.
● NSE की ग्लोबल रैंक 9 है जबकि. BSE की ग्लोबल रैंक 8 है। 
● NSE में 1600 से भी अधिक कंपनियां लिस्टेड हैं. जबकि BSE में 5500 से अधिक कंपनियां लिस्टेड की गई हैं

FAQs – NSE क्या है? NSE और BSE में अंतर क्या है? (National Stock Exchange in Hindi)

Q. NSE Full Form in Hindi

Ans- NSE का पूरा नाम “National Stock exchange of India Limited” होता है। जिसे हिंदी में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड कहते है।

Q. NSE में कितनी कंपनी है?

Ans- वर्तमान समय में National Stock Exchange में 1600 से अधिक कम्पनियाँ लिस्टेड है। जबकि BSE में 5500 से अधिक कम्पनियां लिस्टेड है।

Q. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की स्थापना कब हुई थी

Ans- National Stock Exchange की स्थापना वर्ष 1992 में की गई थी।

Q. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज कहां स्थित है?

Ans- नेशनल स्टॉक एक्सचेंज मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया में स्थित है।

निष्कर्ष –

उम्मीद करता हूँ आपको ये आर्टिकल NSE क्या है? NSE और BSE में अंतर क्या है? (National Stock Exchange in Hindi) अच्छा और ज्ञानवर्धक लगा आप इस लेख को पढ़कर National Stock Exchange के बारे में अच्छे से जान गए होंगे। इस लेख को प्यार देने के लिए आप इसे अपने दोस्तों के साथ साथ सोशल मीडिया साइट्स पर भी जरूर शेयर करे, किस भी प्रकार का सवाल, सुझाव आप कमेंट में कर सकते है धन्यवाद!

Read More –

Businessguidehindi
Businessguidehindihttps://businessguidehindi.com
नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ये ब्लॉग आपको बिज़नेस आइडियाज, मेक मनी, इन्वेस्टमेंट, फाइनेंस और अन्य प्रकार की जानकारिया देता है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent Post